Tickertape: Invest like a Pro

टिकरटेप स्टॉक, म्यूचुअल फंड, ईटीएफ और इंडेक्स के लिए आपका ऑल-इन-वन विश्लेषण और निवेश मंच है, जो आपके निवेश अनुभव को सरल बनाता है और आपको एक ही स्थान पर विश्लेषण और व्यापार करने देता है। हमारे साथ सरल, स्मार्ट और सहज निवेश के साथ आगे रहें।

हमारे पास आपके लिए क्या है:

• 200+ स्टॉक और 50+ म्यूचुअल फंड फिल्टर निवेश विश्लेषण करना के साथ बुद्धिमान विश्लेषण
• मार्केट मूड इंडिकेटर जो आपको मार्केट सेंटीमेंट को ट्रैक करने देता है
• प्रमुख मेट्रिक्स के साथ अपने पोर्टफोलियो, वॉचलिस्ट और बास्केट को ट्रैक करें
• सोशल पर आप जैसे निवेशकों से जुड़ें
• स्टॉक समाचार, पूर्वानुमान, वित्तीय और बहुत कुछ
• जानिए भारतीय शेयर बाजार की बड़ी चालें

लाखों निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार में अपनी हर निवेश की जरूरत के लिए हम पर भरोसा करने के साथ, टिकरटेप आपको एक विविध पोर्टफोलियो बनाने में मदद करता है

भारतीय शेयर बाजार के शेयरों को एक ही स्थान पर खोजें, विश्लेषण करें और निवेश करें। यह तकनीकी स्टॉक विश्लेषण हो या एक सिंहावलोकन, बेहतर निवेश करने के लिए एक व्यापक निवेश चेकलिस्ट, सहकर्मी तुलना, स्टॉक समाचार, पूर्वानुमान और कंपनी के वित्तीय के साथ अपनी जरूरत की हर चीज पाएं।

टिकरटेप के म्युचुअल फंड पृष्ठों में डेटा-संचालित निर्णय लेने में आपकी मदद करने के लिए ढेर सारी जानकारी होती है। आपके लिए स्क्रीनिंग विकल्प, फंड मैनेजर हिस्ट्री, इन्वेस्टमेंट चेकलिस्ट, एएमसी प्रोफाइल, कई टाइमलाइन के लिए एनएवी चार्ट, एसेट एलोकेशन और राय लाना जो आपको एक अच्छा विकल्प बनाने में मदद करते हैं।

हमारे इंडेक्स पेज निफ्टी 50, निफ्टी 100, और निफ्टी आईटी इंडेक्स, लाइव और ऐतिहासिक मूल्य चार्ट, और उपयोगी अनुपात के साथ प्रमुख मीट्रिक सहित इंडेक्स के बारे में बहुत सारी जानकारी होस्ट करते हैं ताकि आपके निवेश निर्णयों में आपकी सहायता की जा सके।

एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ETF)

हमारे आसान निवेश चेकलिस्ट के साथ ईटीएफ का विश्लेषण करें, कई समय के लिए एनएवी, अंतर्निहित सूचकांक और उसके घटक, प्रमुख मेट्रिक्स, व्यय अनुपात और मूल्य ट्रैकिंग। अपने साथियों के साथ ईटीएफ की तुलना करें और एक टैप में समाचार, घटनाओं और सब कुछ ट्रैक करें।

📈 स्टॉक स्क्रीनर और म्यूचुअल फंड स्क्रीनर के साथ तेज़ और आसान फ़िल्टर करें

अपने विविध पोर्टफोलियो में जोड़ने के लिए स्टॉक या म्यूचुअल फंड का विश्लेषण और स्क्रीन करने के लिए स्मार्ट और स्लीक फिल्टर के साथ भारतीय शेयर बाजार में आगे बढ़ें। आपको आरंभ करने के लिए 200+ स्टॉक और 50+ म्यूचुअल फंड फ़िल्टर और पूर्व-निर्मित स्क्रीन के साथ, आप स्टॉक और म्यूचुअल फंड के लिए कस्टम फ़िल्टर भी बना सकते हैं जो आपकी निवेश शैली के अनुकूल हों।

⏰ मार्केट मूड इंडेक्स के साथ रीयल-टाइम मार्केट सेंटीमेंट

टिकरटेप के मार्केट मूड इंडेक्स (एमएमआई) के निवेश विश्लेषण करना साथ, अपने ट्रेडों को बेहतर समय पर बाजार के मूड को देखें और उसका विश्लेषण करें।

🤝 सामाजिक पर समान विचारधारा वाले निवेशकों से मिलें

बिल्कुल नया टिकरटेप सोशल आपको वित्त की दुनिया के निवेशकों और विशेषज्ञों से जुड़ने, चैट करने और बातचीत करने देता है। केवल सामाजिक पर शामिल होकर और रिक्त स्थान बनाकर दुनिया के साथ अपनी निवेश यात्रा में आगे बढ़ें।

👀 जानें कि बड़े लोग क्या कदम उठा रहे हैं

स्टॉक डील्स के साथ, अब आप बाज़ार के व्यवहार और रुझानों को आसानी से समझने के लिए बाज़ार में होने वाले सभी थोक सौदों और ट्रेडों को ट्रैक कर सकते हैं।

⚡ टिकरटेप प्रो के साथ और भी बहुत कुछ करें!

प्रीमियम फिल्टर और सुविधाओं के साथ अपने निवेश के खेल को नई ऊंचाइयों पर ले जाएं, जैसे कि अनंत कस्टम ब्रह्मांड, असीमित कस्टम फिल्टर, ऑफ़लाइन विश्लेषण करने के लिए डाउनलोड करने योग्य डेटा, प्रो पूर्वानुमान और बहुत कुछ।

📖 अपनी निवेश यात्रा के बारे में जानें और आगे बढ़ें

बाजार के बारे में जानना चाहते हैं या निवेश विश्लेषण करना व्यावहारिक लेख पढ़ना चाहते हैं? टिकरटेप के लर्न एंड ब्लॉग के साथ, बुद्धिमान और सुचारू निवेश करने के लिए अपने ज्ञान को बढ़ाने और बढ़ाने के लिए ताजा, सीधे लेखों, सीखने और अधिक के संपर्क में रहें।

💰 लेन-देन करना आसान बना दिया

विश्लेषण, निवेश और ट्रैक करने के लिए एक ऐप से दूसरे ऐप में जाना समय लेने वाला और निराशाजनक है, है ना? लेकिन ऐसा क्यों करें जब आप अपने ब्रोकर को लिंक करके टिकरटेप में एक साथ विश्लेषण और निवेश कर सकते हैं, हम वर्तमान में समर्थन करते हैं
• अपस्टॉक्स
• एंजेल ब्रोकिंग
• 5पैसा
• ऐलिस ब्लू
• एक्सिसडायरेक्ट
• एचडीएफसी सिक्योरिटीज
• आईआईएफएल सिक्योरिटीज
• कोटक सिक्योरिटीज
• ट्रस्टलाइन
• ज़ेरोधा
• मोतीलाल ओसवाल
• ग्रो
• आईसीआईसीआई डायरेक्ट
• धन
• फंडज़बाजार
अधिक दलालों के साथ जल्द ही हमारे साथ जुड़ जाएगा।

पर्सनल फाइनेंस: शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो जानिए इन 5 नियमों के बारे में, आपको खतरे से बचा सकते हैं

शेयर बाजार में निवेश से पैसा बनाने की संभावना एक ऐसा आइडिया है, जो हर नए निवेशक को उत्साहित करता है। साथ ही उन लोगों के लिए भी जो कम अवधि में फायदा कमाना चाहते हैं। हालांकि जब बाजार उतार-चढ़ाव के माहौल में हो, तब किसी भी तरह के तुरंत रिटर्न की संभावना काफी कम हो जाती है। ऐसे में आपको हम बता रहे हैं कि निवेश के समय कौन से नियम का आपको पालन करना चाहिए।

खुद निर्णय न लें

एंजल ब्रोकिंग के इक्विटी स्ट्रैटेजिस्ट ज्योति रॉय कहते हैं कि आप खुद निर्णय लेकर अपने लाभ को बढ़ाने के लालच को छोड़ दीजिए। पोर्टफोलियो मैनेजर्स और एक्सपर्ट्स की सलाह पर ध्यान दें। सतर्कता से व सोच-समझकर निवेश करें।

डिविडेंड पर ध्यान दीजिए

जब भी किसी कंपनी के शेयरों में निवेश किया जाता है, तो निवेशक कंपनी के अच्छे प्रदर्शन से लाभ पाने के योग्य होते हैं। जब मुनाफा हो रहा हो तो कंपनियां अक्सर यह तय करती हैं कि वे अपने शेयरधारकों के साथ अपने मुनाफे को बांटें। यह आम तौर पर मुनाफे के एक हिस्से को शेयर करना है, जिसे वे भविष्य के लिए बचाकर रख सकते हैं।

डिविडेंड आमतौर पर वही होता है जो कंपनी आपके द्वारा अर्जित प्रत्येक शेयर पर देने का निर्णय करती है। कंपनियों के रिकॉर्ड और उनके लाभ को जानकर आप अपने निवेश के निर्णय ले सकते हैं।

विविधता पर फोकस करें

यह सबसे स्पष्ट उपाय है, जिसे निवेशकों को आजमाना चाहिए। यह उन्हें अक्सर उतार-चढ़ाव वाले बाजार में बने रहने में सुरक्षा देता है। अधिक जोखिम लेने वाले निवेशक निवेश को कंपनी के शेयरों के हालिया प्रदर्शन ट्रेंड्स के आधार पर देखते हैं। हालांकि इन निर्णयों के समय सलाहकार की मदद काम आ सकती है।

अलग-अलग साधनों में निवेश करें

प्रसिद्ध कहावत है- ‘अपने सभी अंडों को एक टोकरी में नहीं रखना चाहिए’। निवेशकों को इसी का पालन करना चाहिए। एक संतुलित पोर्टफोलियो का निर्माण तभी हो सकता है जब आप अपने निवेश को कई सेक्टर में निवेश करें। बाजार आर्थिक उथल-पुथल से गुजर रहा है। निवेशकों की भावनाओं में उतार-चढ़ाव हो रहा है। इससे अनिश्चितता बढ़ रही है। यदि पोर्टफोलियो में विविधता रहती है तो गारंटीड रिटर्न प्राप्त करने में मदद मिलती है।

कंपनियों का विश्लेषण करना

फाइनेंशियल सिस्टम के बारे में जानकारी हासिल करना चाहिए। कब स्टॉक खरीदना है और कब बेचना है, उसे समझें। औसत बाजार के रुझान को समझना आपके लिए आधा काम पूरा कर सकता है। निवेशक अक्सर सेक्टोरल ट्रेंड्स, ग्लोबल इकोनॉमिक आउटलुक और कंपनी की घोषणाओं की तुलना करने की गलती करते हैं। बहुत से लोग यह नहीं जानते कि कंपनी की आंतरिक गतिविधियों पर भी बहुत कुछ तय होता है।

कंपनी के मामलों पर नजर रखें

कंपनी के कैश-फ्लो, खर्चों, राजस्व, और उसके निर्णयों को समझना कई पहलुओं में से कुछ एक हैं, जिन पर लोगों को लंबी अवधि के निवेश करने के लिए तैयार होने पर पूरी तरह से रिसर्च करने की आवश्यकता है। निवेशकों के लिए ऐसे पहलुओं पर अपने पोर्टफोलियो मैनेजर्स से सलाह लेना बेहतर होगा, क्योंकि इसमें गहन अध्ययन शामिल है।

सट्टेबाजी से प्रेरित फैसले न लें

अक्सर लोगों को सट्टेबाजी से लाभ होता है और वह इसे ही आधार बना लेते हैं। निरंतर रिटर्न हासिल करने के लिए सट्टेबाजी अच्छा विकल्प नहीं है। यह निरंतर रिटर्न में हानिकारक हो सकता है। बाजार की अटकलों और अफवाहों को फॉलो करना जोखिम हो सकता है। निवेश के प्रमुख तरीकों में से यह भी जानना चाहिए कि न्यूज रिपोर्टों पर फैसला न लें। यह आवश्यक है कि कंपनी के संकट के समय में अपने पोर्टफोलियो को मिस मैनेज न करें और भावनात्मक निर्णय लेकर अपने शेयरों को नहीं बेचें।

कैसे और कब बेचना है

कुछ निवेशकों में जोखिम लेने की ज्यादा चाहत होती है। उनमें कम अवधि के ट्रेड के लिए एक उत्साह हो सकता है। यह संपत्ति बढ़ाने में महत्वपूर्ण हो सकता है। विशेषज्ञों का तर्क है कि यह युवा निवेशकों के लिए अधिक उपयुक्त है। ये निर्णय अक्सर बाजार में उतार-चढ़ाव से जुड़े होते हैं, न कि किसी उद्योग या कंपनी की लंबी अवधि की रणनीति का हिस्सा होते हैं। यहां तक कि रिटर्न की भी गारंटी नहीं है, क्योंकि यह सट्टा खेलने जैसा है।

जो लोग लंबी अवधि के लिए निवेश करते हैं, उन्हें बाजार के कम समय के उतार-चढ़ाव या स्टॉक ऑप्शन की मूल्य स्थिरता के आधार पर अपनी खरीदारी या बिक्री का निर्णय नहीं लेने चाहिए। लार्ज-कैप निवेश पर नजर रखते हुए मिड-कैप और स्मॉल कैप निवेशों को छोटे अनुपात में रखना चाहिए। इस तरह जल्दबाजी में निर्णय नहीं लेना चाहिए।

Rakesh Jhunjhunwala share Market Tips in Hindi | राकेश झुनझुनवाला 5 Investment Rules

Rakesh Jhunjhunwala share Market Tips in Hindi– दोस्तों अगर आपको शेयर मार्केट में सफल होना है तो राकेश झुनझुनवाला 5 Investment Rules को जरुर इन्वेस्टमेंट के समय फॉलो करना चाहिए। देश के सबसे बड़े Big Bull कहे जानेवाले Rakesh Jhunjhunwala ने शेयर मार्केट से जबरदस्त पैसा बनाए हैं। आज हम जानेंगे उनके बताए हुवे 5 ऐसे टिप्स जो आपको जरुर फॉलो करना चाहिए। आइए जानते है-

Rakesh Jhunjhunwala share Market Tips in Hindi

गलतियों से सीखे:- Rakesh Jhunjhunwala कहते है की आप गलती से सीखो। वो सीख आपको बहुत आगे तक लेके जा चकती हैं। उनके अनुसार स्टॉक मार्केट सीखने का बेस्ट तरीका है अनुभव। और अनुभव गलती करके सीखने निवेश विश्लेषण करना को मिलता हैं। गलती से कभी भी मत घबराना चाहिए। अगर आप गलती करने से डरने लगोगे तो आप कोई भी फैसले नहीं ले पाओगे। अगर आपको शेयर मार्केट में सफल बनना है तो आपको फैसले लेने होंगे और फैसले लेने वक्त कभी कभी गलती हो जाती हैं। पर दुसरो को दोष देने के बजाये आप उनसे सीखना चाहिए।

राकेश झुनझुनवाला ने एक इंटरव्यू में कहा था की एक कंपनी में उन्होंने 150 करोड़ से भी ज्यादा पैसा गवाया था। लेकिन उन्होंने कभी भी उस कंपनी के प्रमोटर से तेज बात नहीं की। और कहा मेने उस कंपनी को परखने निवेश विश्लेषण करना में गलती की हैं। इससे यह समझ आता है की अपने गलती से दुसरो को दोष देने से कोई फ़ायदा नहीं आपको उन गलती से सीखके आगे इन्वेस्ट करना चाहिए।

कंपनी का विश्लेषण:- किसी भी कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करने से पहले इनका पूरा विश्लेषण करना चाहिए। छोटी मोती विश्लेषण Profit, Revenue देखने से कुछ नहीं होगा। आपको अच्छे से Analysis करना चाहिए। इसके अलाबा भबिस्य में ग्रोथ और कंपनी के Management को भी अच्छे से परखना होता हैं। तभी आप भबिस्य के हिसाब से इन्वेस्ट करने के लिए एक अच्छा स्टॉक खोज पाओगे। और आप भबिस्य में एक राकेश झुनझुनवाला जैसा सफल इन्वेस्टर बन पाओगे।

मार्केट के हिसाब से चले:- राकेश झुनझुनवाला कहते है की मार्केट ही सर्वोच्च हैं। शेयर बाज़ार कभी गलत या सही नहीं होता। आपके हिसाब से मार्केट नहीं चलेगा मार्केट के हिसाब से आपको चलना होगा। आपको यदि नुकशान हुआ है तो आप बाज़ार को दोष मत दे। आपको स्वीकार करना चाहिए इस नुकशान का कारण आप खुद हो। अगर आप स्वीकार नहीं करोगे तो आप मार्केट से कभी सीख नहीं पाओगे। और सीखना बंद करोगे तो मार्केट से कमाई भी नहीं कर पाओगे। इसलिए आपको मार्केट की चुनना चाहिए और निवेश विश्लेषण करना उसके साथ साथ चलिए।

राकेश झुनझुनवाला 5 Investment Rules

Investing और Trading पोर्टफोलियो अलग अलग:- स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करते वक्त हर किसी को ये ध्यान में रखना चाहिए की अगर आप ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट करना चाहते हो तो दोनों पोर्टफोलियो अलग अलग रखे। दोनों को कभी mixed ना होने दे।

ट्रेडिंग एक Momentum के हिसाब से चलता है और इन्वेस्टमेंट लंबे समय के लिए होता हैं। इसलिए दोनों को अलग अलग रखना बहुत जरुरी हैं। साथ ही वो ये भी कहते है हर ट्रेड करने से पहले देखो सबसे बुरे समय में क्या हो चकता है और उसके लिए तैयार रहो। रिस्क आप उतना ही लो जितना आप बर्दाश्त कर चकते हो।

Rakesh-Jhunjhunwala-share-Market-Tips-in-Hindi-राकेश-झुनझुनवाला-5-Investment-Rules

स्टॉक टिप्स से दूर रहो:- Rakesh Jhunjhunwala कहते है स्टॉक टिप्स से आपको हमेसा दूर रहना चाहिए। खुद के विश्लेषण करके शेयर को खरीदना चाहिए। किसी के बोले हुवे शेयर में इन्वेस्ट करना सही नहीं हैं। आपको उस शेयर का प्रॉपर विश्लेषण करके निवेश करना चाहिए।

अगर आप कोई बड़े इन्वेस्टर का कहा मानकर शेयर खरीद लेते हो और कुछ दिन बाद कोई घटना के चलते बदल जाए जो आपको समझ नहीं है। आपको जिसने शेयर खरीदने को बोला वो तो निकल जायेंगे और आप फस जाओगे। मार्केट निवेश विश्लेषण करना कभी भी परिवर्तन हो चकता हैं। इसलिए आपको इन्वेस्ट करने से पहले और उसके बाद भी विश्लेषण करते रहना बहुत जरुरी हैं।

क्या Rakesh Jhunjhunwala के शेयर में इन्वेस्ट करे

ऐसा गलती आपको बिल्कुल नहीं करना चाहिए। आप उनको फॉलो करना चाहिए लेकिन कॉपी बिल्कुल नहीं करना चाहिए। इससे आपको बहुत बड़ा नुकशान भी हो चकता हैं। Rakesh Jhunjhunwala जो भी शेयर लेते है उसका कोई ना कोई नजरिया होता हैं। अगर वो गलत हो जाते है उसमे से निकल भी आते हैं।

बिना चोचे अगर आप उन शेयर पर पैसा लगा देते हो तो आपका पैसा डूब भी चकता हैं। Rakesh Jhunjhunwala को भी बहुत सारे शेयर में नुकशान होते रहते हैं। लेकिन उनको ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। वो हर गलती से सीखते रहते हैं। इसलिए आपको भी सीखते रहना चाहिए।

निष्कर्ष:-

शेयर मार्केट से पैसा कमाई करना आसन तो लगता है लेकिन उतना ज्यादा आसान भी नहीं। इसमें सीखते रहना और साथ में मार्केट के साथ अपडेट रहना बहुत जरुरी हैं। कोई भी शेयर जब आप खरीदते हो तो भबिस्य को देखते हुवे और उसे लंबे समय के लिए खरीदना चाहिए। जिससे आपको भबिस्य में अच्छा रिटर्न मिल सके।

आशा करता हु आपको Rakesh Jhunjhunwala share Market Tips in Hindi राकेश झुनझुनवाला 5 Investment Rules पोस्ट को पढ़के अच्छी तरह से समझ गए होंगे किस तरह वो इन्वेस्ट करते हैं। आपके मन में इससे जुड़ी कोई भी सवाल या सुझाब है तो कमेंट में जरुर बताए। शेयर मार्केट से ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारी के साथ अपडेट रहने के लिए हमारे साथ बने रहे।

निवेश विश्लेषण करना

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

10 लाख रुपये का निवेश करना चाहते हैं तो SBI MF के डिप्टी MD से जानिए कहां निवेश से होगा फायदा

SBI MF के डिप्टी एमडी ने कहा कि पहली बार शेयरों में पैसा लगाने वाले इनवेस्टर्स कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड के साथ शुरुआत कर सकते हैं। ये फंड अपना 25 फीसदी शेयरों में इनवेस्ट करते हैं और बाकी 75 फीसदी डेट (बॉन्ड्स) में निवेश करते हैं। फिर, उन्हें शेयरों में धीरे-धीरे अपना निवेश बढ़ाना चाहिए

सिंह ने कहा कि इस साल निफ्टी 50 ने बड़ी गिरावट के बाद शानदार रिकवरी दिखाई है। रिटेल इनवेस्टर्स जो अब तक निवेश के सही मौके का इंतजार कर रहे थे, उन्हें धीरे-धीरे शेयरों में निवेश करना शुरू कर देना चाहिए।

चीन और ताइवान के बीच तनाव और यूक्रेन-रूस की लड़ाई के बावजूद इंडिया में माहौल अच्छा है। पिछले कुछ हफ्तों में निवेश विश्लेषण करना शेयर बाजार में भी सेंटिमेंट काफी पॉजिटिव हुआ है। विदेशी फंडों (FII) ने फिर से इंडियन मार्केट में निवेश करना शुरू कर दिया है। पिछले साढ़े तीन महीनों में FII ने इंडियन स्टॉक मार्केट में शुद्ध रूप से 65,000 करोड़ रुपये की खरीदारी की है।

ऐसे में माहौल में अगर कोई रिटेल इनवेस्टर 10 लाख रुपये का निवेश करना चाहता है तो उसे क्या करना चाहिए? मनीकंट्रोल ने इस सवाल का जवाब जानने के लिए SBI Mutual Fund के डिप्टी एमडी और चीफ बिजनेस ऑफिसर डीपी सिंह से बातचीत की।

संबंधित खबरें

देश के सबसे बड़े प्राइवेट सेक्टर बैंक HDFC ने निवेश विश्लेषण करना बल्क FD पर बढ़ाया ब्याज, दे रहा है 7.75% का बंपर इंटरेस्ट

How to Apply Pan Card Online: जानें घर बैठे कैसे बनवाएं पैन कार्ड, ये है सबसे आसान तरीका

केंद्र सरकार की इस शानदार स्कीम में बेटियां बन जाएंगी लखपति, जानिए नए साल में कैसे उठाएं फायदा

सिंह ने कहा कि इस साल निफ्टी 50 ने बड़ी गिरावट के बाद शानदार रिकवरी दिखाई है। रिटेल इनवेस्टर्स जो अब तक निवेश के सही मौके का इंतजार कर रहे थे, उन्हें धीरे-धीरे शेयरों में निवेश करना शुरू कर देना चाहिए। निवेश के लिए सही समय पर मार्केट में एंटर करने के बजाय उन्हें लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट पर फोकस करना चाहिए। लंबी अवधि के निवेश पर बाजार के उतार-चढ़ाव का असर नहीं पड़ता है।

उन्होंने कहा कि इनवेस्टर्स को सबसे पहले यह जानने की जरूरत है कि निवेश विश्लेषण करना वे शेयर बाजार में निवेश के लिए तैयार हैं या नहीं। इस सवाल का जवाब मिल जाने पर उन्हें एक्टिवली-मैनेज्ड फंड में निवेश शुरू करना चाहिए। इसकी वजह यह है कि इन फंडों का रिटर्न मार्केट के बेंचमार्क के मुकाबले ज्यादा रहता है। आपको किसी फंड के पिछले एक साल या अगले एक साल के रिटर्न को देखने की जरूरत नहीं है। शेयर या किसी सेक्टर का प्रदर्शन एक बिजनेस साइकिल में अच्छा हो सकता है। लेकिन यह जरूरी नहीं कि दूसरे मार्केट साइकिल में भी उनका प्रदर्शन अच्छा हो। इसलिए भरोसेमंद फंड हाउस के भरोसेमंद फंड मैनेजर की स्कीम में अपना निवेश जारी रखें।

SBI MF के डिप्टी एमडी ने कहा कि पहली बार शेयरों में पैसा लगाने वाले इनवेस्टर्स कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड के साथ शुरुआत कर सकते हैं। ये फंड अपना 25 फीसदी शेयरों में इनवेस्ट करते हैं और बाकी 75 फीसदी डेट (बॉन्ड्स) में निवेश करते हैं। फिर, उन्हें शेयरों में धीरे-धीरे अपना निवेश बढ़ाना चाहिए। वैश्विक स्तर पर कुछ टेंशन रहा है। रूस-यूक्रेन की लड़ाई जारी है। चीन और ताइवान में टकराव बढ़ा है। यह चिंता की बात है। लेकिन, इस बीच क्रूड की कीमतों में नरमी आई है, जो इंडिया के लिए अच्छी बात है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका और यूरोपीय देशों ने रूस पर जो प्रतिबंध लगाए हैं उससे इंडिया को फायदा होता दिख रहा है। हम रूस से बहुत कम दाम पर क्रूड आयल खरीद रहे हैं। चीन के साथ पश्चिमी देशों के रिश्ते खराब हुए हैं, जो इंडिया के लिए फायदेमंद है।

यह पूछने पर कि क्या इनवेस्टर्स को आईपीओ में पैसे लगाने चाहिए, सिंह ने कहा कि यह इनवेस्टर की क्षमता पर डिपेंड करता है। सबसे जरूरी है कंपनी के बारे में विश्लेषण करना। एक फंड हाउस जिस तरह से किसी कंपनी के मैनजेमेंट और उसकी बुनियदाी बातों को समझ सकता है, वह किसी रिटेल इनवेस्टर के लिए मुमकिन नहीं है। अगर आप कंपनी के बारे में पूरी तरह से जानते हैं तो फिर आप आईपीओ में इनवेस्ट कर सकते हैं।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Sep 15, 2022 12:40 PM

हिंदी में शेयर बाजार, Stock Tips, न्यूज, पर्सनल फाइनेंस और बिजनेस से जुड़ी खबरें सबसे पहले मनीकंट्रोल हिंदी पर पढ़ें. डेली मार्केट अपडेट के लिए Moneycontrol App डाउनलोड करें।

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 332