निवेश क्या है? निवेश का अर्थ | What is Investment in Hindi

निवेश क्या है? निवेश का अर्थ | Meaning Of Investment in Hindi

निवेश को English में Investment कहा जाता है लाभ कमाने के उद्देश्य से या धन में वृद्धि करने के उद्देश्य से किया गया व्यय निवेश कहलाता है व्यक्ति के द्वारा किये गये निवेश का उद्देश्य अधिक धन की प्राप्ति करना होता है

निवेश करने के लाभ | Benefits of Investment in Hindi

  • निवेश करने से व्यक्ति की आर्थिक स्तिथि मजबूत होती है
  • यह व्यक्ति की भविष्य में होने वाली जोखिमो से रक्षा करता है
  • यह एक प्रकार का कम मेहनत में ज्यादा कमी करने का एक तरीका है

निवेश के प्रकार | Types of Investment in Hindi

निवेश को 8 भागो में बाटा गया है

  1. इंड्यूसेड निवेश (Induced Investment)
  2. वित्तीय निवेश (Financial Investment)
  3. स्वायत्त निवेश (Autonomous Investment)
  4. प्लांड निवेश (Planned Investment)
  5. वास्तविक निवेश (Actual Investment)
  6. अनप्लांड निवेश (Unplanned Investment)
  7. कुल निवेश (Total Investment)
  8. शुद्ध निवेश (Net Investment)

निवेश करने के सबसे अच्छे तरीके

  • Real Estate
  • Commodity
  • Share Market

एक अंदाजे के अनुसार प्रत्येक वस्तु में 1 वर्ष में 8% की वृद्धि होती है इसका अर्थ है की आज यदि कोई वस्तु 1000 रूपये की है तो वह 1 वर्ष बाद 1080 रूपयेकी हो सकती है इस बात का यह अर्थ है की आज आपके पास 10000 रूपये की बचत के तौर पर है परन्तु आपने उन्हें निवेश (Invest) नही किया तो 1 साल बाद महगाई बढ़ने के कारण उनका मूल्य बाज़ार की द्रष्टि से कम हो जायेगा अत बचत को निवेश करना बहुत आवश्यक है

शेयर मार्केट में कैसे इन्वेस्ट कैसे करे | How to invest in Share Market

निवेश करने के लिए एक बहुत इन्वेस्टमेंट क्या होता है ही अच्छा तरीका शेयर मार्केट है लेकिन यहां पर रिस्क रहती है इसलिए यहां इन्वेस्ट करने से पहले पूरी जानकारी लेनी चाहिए कुछ विशेषज्ञों के अनुसार शुरुआती समय में अधिकांश लोगों को महंगे स्टॉक्स में निवेश नहीं करना चाहिए

इस लेख में निवेश का अर्थ, निवेश क्या है, What is investment in Hindi के बारे में बताया है यह लेख आपको पसंद आया है या आपके प्रश्नों का हल हो गया है तो आप इसे जरुर शेयर करे

UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले बाराबंकी में बंपर निवेश, 500 करोड़ से अधिक का हुआ एमओयू

UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले बाराबंकी में बंपर निवेश, 500 करोड़ से अधिक का हुआ एमओयू

उत्तर प्रदेश में फरवरी 2023 में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारी तेज हो गयी है. बाराबंकी जिले में अधिक से अधिक निवेश व उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए इंडियन इंडस्ट्रीज एसोशिएशन एवं उद्योग विभाग के तत्वाधान में एक दिवसीय इन्वेस्टर एवं निर्यातक शिखर सम्मलेन का आयोजन किया गया. औद्योगिक क्षेत्र कुर्सी में प्रदेश सरकार के खाद्य एवं रसद मंत्री सतीश शर्मा व जिलाधिकारी अविनाश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस निर्यातक शिखर सम्मेलन में काफी संख्या में निवेशक और उद्यमियों ने हिस्सा लिया.

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बाराबंकी जिले को 500 करोड़ का लक्ष्य मिला है, जिसके सापेक्ष सोमवार को दो दर्जन से अधिक कंपनियों द्वारा करीब 500 करोड़ से अधिक के एमओयू हस्ताक्षर किये गए. इस समिट मीट के राज्य मंत्री सतीश शर्मा समेत कई बड़े उद्योगपति मौजूद रहे.

इस मौके पर राज्यमंत्री सतीश शर्मा ने 500 करोड़ का लक्ष्य पूरे होने पर जिला प्रशासन को बधाई दी. इस मौके पर निर्यातक शिखर सम्मलेन में विधायक कुर्सी साकेंद्र प्रताप वर्मा, आयुक्त अयोध्या मंडल गौरव दयाल साहित तमाम आधिकारी मौजूद रहे. निर्यातक शिखर सम्मेलन (Investor summit) के सम्बन्ध में डीएम अविनाश कुमार ने बताया की यूपी में फ़रवरी माह में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में बाराबंकी जिले को आवंटित 500 करोड़ के लक्ष्य के सापेक्ष्य आज आयोजित निर्यातक सम्मलेन में भारी संख्या में इन्वेस्टरों द्वारा एमओयू साईन किया गया है. डीएम अविनाश कुमार ने ये भी बताया कि 500 करोड़ का लक्ष्य एक दिन में पूरा करने पर हम लोग बहुत उत्साहित हैं.

बता दें कि यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में निवेश का लक्ष्य हासिल करने के लिए मंत्रियों के विदेश दौरे तय किए जा रहे हैं. इसके तहत औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल नंदी और लोक निर्माण विभाग मंत्री जितिन प्रसाद जर्मनी में फ्रेंकफर्ट, बेल्जियम में ब्रूसेल्स और स्वीडन में स्कॉटहोम का दौरा किया है.

स्वीडिश निवेशक एनसीआर नॉएडा के फिल्म सिटी में करेंगे 10 हजार करोड़ का निवेश

एनसीआर नॉएडा ब्रेकिंग न्यूज़: यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 के जरिए राज्य में 10 लाख करोड़ रुपए का निवेश लाने के अभियान को बड़ी कामयाबी मिल रही है। यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (Yamuna Authority) की फिल्म सिटी परियोजना को स्वीडिश निवेशक मिला है। यह कंपनी 10,000 करोड़ रुपए का निवेश करना चाहती है। दूसरी ओर कानपुर और बुंदेलखंड में विकसित किए जा रहे डिफेंस कॉरिडोर में दुनिया की जानी-मानी आयुद्ध निर्माता कंपनी साब आना चाहती है। स्वीडन की यात्रा के दौरान यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी और लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद को इन्वेस्टमेंट क्या होता है 15,000 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं।

नंदी और जितिन ने उठाया कार्ल-गुस्ताफ एम-4: उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नन्दी और लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने स्टॉकहोम (स्वीडन) में इन्वेस्टमेंट रोड शो किया। इस दौरान स्वीडिश व्यापार समुदाय से मुलाकात की और उन्हें ग्लोबल इन्वेस्टमेंट क्या होता है इन्वेस्टर्स समिट 2023 के लिए आमंत्रित किया है। इस दौरान दोनों मंत्रियों ने कार्ल-गुस्ताफ एम-4 को कंधों पर उठाया और निशाना लगाना सीखा। कार्ल-गुस्ताफ एम-4 अत्याधुनिक रॉकेट लॉन्चर है।

मंत्रियों ने बी-2-जी और जी-2-जी बैठक कीं: स्टॉकहोम में रोड शो के दौरान आयोजित विभिन्न बी-2-जी और जी-2-जी बैठकों में रक्षा, कपड़ा, खाद्य प्रसंस्करण, ऑटोमोबाइल और ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन), नवीकरणीय ऊर्जा, अपशिष्ट और जल प्रबंधन व परिवहन सहित तमाम क्षेत्रों में निवेश के अवसरों पर चर्चा की गई। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव नवनीत इन्वेस्टमेंट क्या होता है सहगल, आबकारी आयुक्त सेंथिल सी पांडियन सचिव (एमएसएमई) प्रांजल यादव सहित उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने राज्य की ताकत का परिचय दिया। औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ने कहा, "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश एक ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की बराबर अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है।"

आइकिया ने निवेश बढ़ाकर 4,300 करोड़ किया: प्रतिनिधिमंडल ने आइकिया की एक टीम से मुलाकात की। यह कंपनी पहले से नोएडा में रिटेल स्टोर स्थापित करने के लिए यूपी में निवेश कर रही है। कंपनी के ग्लोबल एक्सपेंशन हेड जैन क्रिस्टेंसन और पब्लिक अफेयर्स मैनेजर जैन क्रेलिना ने स्टॉकहोम में प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। उत्तर प्रदेश में आइकिया रिटेल स्टोर्स और लग्जरी मॉल्स की श्रृंखला के विस्तार के लिए 4,300 करोड़ रुपये का निवेश करने का इरादा व्यक्त किया है।

फिल्म सिटी के लिए 10 हजार करोड़ का निवेश: स्वीडिश निर्माण कंपनी सरनेके उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी परियोजना में 10,000 करोड़ रुपये का निवेश करना चाहती है। नंदी ने बताया कि स्वीडिश बिजनेस कम्युनिटी ने उत्तर प्रदेश राज्य में गहरी दिलचस्पी दिखाई है। स्टॉकहोम इन्वेस्टमेंट रोड शो के दौरान कुल 15,000 करोड़ रुपये के निवेश के इरादे दर्ज किए गए हैं। स्वीडन ने भारत में अपने निवेश गंतव्य के रूप में यूपी का चयन किया। स्टॉकहोम रोड शो में फिल्म सिटी, खुदरा, पर्यटन और अपशिष्ट प्रबंधन के लिए निवेश के लिए सहमति व्यक्त की गई।

बोसोन एनर्जी का 1,000 करोड़ निवेश करने का इरादा: औद्योगिक विकास मंत्री ने बताया कि लक्ज़मबर्ग में स्थित बोसोन एनर्जी ने स्टॉकहोम रोड शो में उत्तर प्रदेश में अपशिष्ट से ऊर्जा परियोजना स्थापित करने के लिए 1,000 करोड़ रुपये का निवेश करने का इरादा व्यक्त किया है। स्वीडन-इंडिया बिजनेस काउंसिल के महासचिव और अध्यक्ष रॉबिन सुखिया ने यूपी में रहने और काम करने के अपने अनुभवों को साझा किया। उन्होंने स्वीडिश व्यापार समुदाय को पर्याप्त अवसरों का पता लगाने के लिए आमंत्रित किया। स्वीडन में भारत के राजदूत तन्मय लाल ने कहा कि 25 करोड़ की विशाल आबादी वाला उत्तर प्रदेश अगर अलग मुल्क होता तो दुनिया का 5वां सबसे बड़ा देश होता। चूंकि यूपी निवेश के अनंत अवसरों के साथ भारत में नए निवेश गंतव्य के रूप में उभरा है, इसलिए स्वीडिश निवेशकों को यूपी को चुनना चाहिए।

रक्षा कम्पनी साब का किया दौरा: मंत्री नन्दी और मंत्री जितिन प्रसाद के साथ प्रतिनिधिमंडल ने स्टॉकहोम में स्वीडन में स्वीडिश रक्षा कंपनी साब के मुख्यालय का दौरा किया और यूपी डिफेंस कॉरिडोर में सहयोग के क्षेत्रों पर चर्चा की। रक्षा कम्पनी साब ग्रिपेन विमान और कार्ल गुस्ताफ एम4 हथियार प्रणाली बनाने वाली कंपनी है।

New Business Idea: मात्र 10 हजार रुपये में शुरू करें ये 8 शानदार बिजनेस, होगी छप्पर फाड़ कमाई

New Business Idea: Start business in 10 thousand: अगर आप भी उन लोगो में से है जो की नौकरी करने के बजाय अपना बिजनेस करने को प्रेफरेंस देते है। तो आज हम आपको ऐसे ही 8 शानदार बिजनेस आइडियाज के बारे में बताने वाले है जिनमें की आप बहुत कम इन्वेस्टमेंट करके अच्छी खासी कमाई कर सकते है। इन्वेस्टमेंट क्या होता है इन्वेस्टमेंट क्या होता है यही नहीं टाइम के साथ-साथ बिजनेस बढ़ने पर आप इनसे छप्पर फाड़ कमाई भी कर सकते है।

कोई भी बिजनेस शुरू करते समय हमे इस चीज को ध्यान रखना चाहिए। हर बड़ा बिजनेस एक छोटे से बिजनेस से ही शुरू होता है। और हमारे देश में ऐसे हजारों एग्जामपल भरे पड़े है। चाहे लिज्जत पापड़ को लें या अन्य किसी सफल बिजनेस को इन सभी की शुरुआत एक छोटे से बिजनेस से ही हुई है।

चलिए जानते हैं ऐसे 8 शानदार बिजनेस के बारे में—

योग-टीचर

जैसे-जैसे लोगो में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ रही है वे फिट रहने के नए-नए तरीके ढूढ़ने लगे है। ऐसे में अगर आप योग टीचर के रूप में उन्हें सेवायें मुहैया करवाते है तो इससे आपको अच्छी- खासी आमदनी हो सकती है। इसके लिए आपका किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से योग में डिग्री होना जरुरी है। इससे ना सिर्फ आप स्वयं स्वस्थ रह सकते है बल्कि दूसरों को भी फिट बनाने में मदद कर सकते है। यही नहीं आप यूट्यूब के माध्यम से भी योग सिखाकर कमाई के नए अवसर पैदा कर सकते है। आपको बता दे कोरोना के बाद योग टीचरों की डिमांड तेजी से बढ़ी है। इसलिए इस फील्ड में भविष्य सुनहरा है।

कुकिंग क्लासेज

अगर आपको अलग-अलग तरह के खाना बनाने का शौक है तो आप इस शौक को बिजनेस में बदल सकते है। आप चाहें तो महिलाओं और बच्चो को अलग-अलग तरह की डिशेस बनाने के लिए कुकिंग क्लास खोल सकते है या चाहें तो अपना यूट्यूब चैनल खोलकर भी पैसे कमा सकते है। यही नहीं अगर आपके पास इसमें प्रोफेशनल डिग्री है तो आप होटल मैनेजमेंट इंस्टीटूशन में भी पढ़ा सकते है।

टूर गाइड

घूमने के शौक़ीन लोगो के लिए टूर गाइड बनना बेहतर विकल्प हो सकता है। इसमें आपको देश-विदेश से आने वाले टूरिस्टो को किसी टूरिस्ट प्लेस की सैर करानी होती है और उस जगह के बारे में उन्हें बताना होता है। इसके लिए आपको अलग-अलग भाषाओँ का नॉलेज होना जरुरी है। टूरिस्ट गाइड बनकर आप अलग-अलग कल्चर के लोगो से मिलते है साथ ही आपको इससे अच्छी-खासी कमाई भी होती है।

आइस-क्रीम पार्लर

बच्चे हो या जवान हर कोई आइस क्रीम खाना पसंद करता है। ऐसे में आप आइस-क्रीम पार्लर खोलकर अच्छी खासी कमाई कर सकते है। इसके लिए आपको FSSAI से लाइसेंस लेना जरुरी होता है। इसके बाद आप अलग-अलग फ्लेवर की आइस-क्रीम बेचकर अच्छी खासी कमाई कर सकते है। यही नहीं विवाह, शादी-समारोहों और अन्य अवसरों पर भी आइस-क्रीम की अच्छी खासी डिमांड रहती है।

वेडिंग प्लानर

हर इंसान की जिंदगी में शादी एक ख़ास मौका होता है और हर कोई इसे यादगार बनाना चाहता है। अगर आप भी क्रिएटिव चीजों में रूचि रखते है और हमेशा कुछ नया करने का प्लान करते है तो आपके लिए वेडिंग प्लानर बनना फायदेमंद साबित हो सकते है। इसमें आपको लोगो की शादी को यादगार बनाने के लिए अच्छे से प्लानिंग करनी होती है जिसके लिए लोग आपको मुँह-माँगी कीमत देने को भी तैयार रहते है।

टिफ़िन सर्विस

वर्तमान समय में लोग जॉब करने अलग-अलग शहरो में जाते है यही नहीं स्टूडेंट भी पढ़ाई के लिए अलग-अलग शहरों का रुख करते है। ऐसे में वे घर जैसे खाने के लिए टिफिन सर्विस को प्रायोरिटी देते है। अगर आप भी टिफ़िन सर्विस को शुरू करते है तो अलग-अलग लोगो को खाना मुहैया कराकर आप अच्छा-खासा बिजनेस कर सकते है। यही नहीं इस बिजनेस में इन्वेस्टमेंट भी बहुत कम करना पड़ता है जिससे की आपको अच्छा-ख़ासा लाभ होता है।

फ़ास्ट-फ़ूड कार्नर

जैसे की आप जानते होंगे की हर जगह फ़ास्ट-फ़ूड के दीवानो की कमी नहीं है ऐसे में अगर आप फ़ास्ट-फ़ूड कार्नर खोलने के बारे में विचार कर रहे है तो आप इससे अच्छी-खासी कमाई कर सकते है। इसके लिए जरुरी नहीं है की आप बहुत बड़ा रेस्टोरेंट खोलें। आप चाहे तो एक छोटी से इन्वेस्टमेंट से इस बिजनेस को शुरू करके अच्छा-ख़ासा पैसा कमा सकते है।

कोचिंग इंस्टिट्यूट/ ट्यूशन पॉइंट

New Business Idea: Start business in 10 thousand: अगर आप पढ़ाने के शौक़ीन है तो आपके लिए कोचिंग सेंटर और ट्यूशन पढ़ाना बेहतर विकल्प साबित हो सकते है। इससे ना सिर्फ आप पढ़ाई के टच में रहते है बल्कि आपकी नॉलेज भी बढ़ती है। आपको बता दें की ट्यूशन पढ़ाने के लिए प्रति घंटे के हिसाब से भी फीस चार्ज की जाती है जिससे की आपको बेहतर आमदनी होती है। आप चाहें तो ऑनलाइन क्लास के द्वारा भी बच्चों को पढ़ाकर अच्छा-खासा पैसा कमा सकते है।

PPF Calculator | इस पोस्ट ऑफिस प्लान में SIP की तरह निवेश कर पाएं 14.55 लाख रिटर्न, समझें गणित

PPF calculator

PPF Calculator | म्यूचुअल फंड एसआईपी निवेश का एक जबरदस्त साधन है और लंबे समय में पैसा कई गुना बढ़ जाता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि निवेश राशि छोटी है, क्योंकि एसआईपी चक्रवृद्धि तरीके से ब्याज रिटर्न प्रदान करता है। लेकिन म्यूचुअल फंड एसआईपी शेयर बाजार के जोखिमों के अधीन हैं। यही कारण है कि लोग सुरक्षित कमाई के लिए सरकारी योजनाओं में निवेश करना पसंद करते हैं। हालांकि पीपीएफ स्कीम में भी आप एसआईपी की तरह निवेश करकंपाउंडेड तरीके से रिटर्न कमा सकते हैं। पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी पीपीएफ स्कीम में लंबी अवधि का निवेश शानदार रिटर्न देता है।

पीपीएफ योजना (PPF Calculator)
पीपीएफ स्कीम की मैच्योरिटी अवधि 15 साल तय की गई है। पीपीएफ खाते में एक वित्त वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा करने की अनुमति दी गई है। लेकिन पीपीएफ प्लान की खास बात यह है कि इसमें एक साल में एकमुश्त निवेश के अलावा आप सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान की तरह हर महीने निवेश कर सकते हैं। पीपीएफ प्लान इन्वेस्टमेंट क्या होता है में मिलने वाला ब्याज रिटर्न एफडी या आरडी की तुलना में बहुत ज्यादा होता है। पीपीएफ प्लान में छोटे-छोटे निवेश करके आप लंबे समय में बड़ा फंड बना सकते हैं। इस योजना के तहत अर्जित ब्याज और परिपक्वता की राशि को कर मुक्त माना जाता है।

पीपीएफ कैलकुलेटर के अनुसार रिटर्न
* मासिक निवेश राशि: 5000 रुपये
* वार्षिक निवेश: 60,000 रुपये
* वार्षिक ब्याज दर: 7.1 प्रतिशत चक्रवृद्धि
* 15 साल बाद रिफंड: 16.25 लाख रुपये
* कुल निवेश राशि: 9 लाख रुपये
* ब्याज वापसी राशि: 7.25 लाख रुपये

पीपीएफ कैलकुलेटर के अनुसार 10,000 मासिक निवेश पर रिटर्न
* मासिक निवेश राशि: 10,000 रुपये
* वार्षिक निवेश: 1,20,000 रुपये
* वार्षिक ब्याज दर: 7.1 प्रतिशत चक्रवृद्धि
* 15 साल बाद रिफंड: 32.55 लाख
* कुल निवेश राशि: 18 लाख रुपये
* ब्याज वापसी राशि: 14.55 लाख रुपये

PPF योजना की विशेषताएं
* पीपीएफ स्कीम में एक वित्त वर्ष में अधिकतम 1.50 लाख रुपये का निवेश किया जा इन्वेस्टमेंट क्या होता है सकता है। इस योजना में 12 किस्तों में निवेश करें।
* पीपीएफ स्कीम में न्यूनतम 500 रुपये जमा कर निवेश शुरू किया जा सकता है।
* पीपीएफ योजनाओं में निवेश वर्तमान में प्रति वर्ष 7.1% की ब्याज दर प्रदान करता है। इस ब्याज दर की समीक्षा तिमाही आधार पर की जाती है।
* 10 साल से कम उम्र के बच्चे के नाम पर इस खाते को खोलकर पीपीएफ खाते में निवेश किया जा सकता है। हालांकि, इस खाते की जिम्मेदारी माता-पिता की है।
* पीपीएफ स्कीम की मैच्योरिटी अवधि 15 साल तय की गई है, लेकिन स्कीम के मैच्योरिटी के बाद भी निवेश की अवधि को 5-5 तक और बढ़ाया जा सकता है।
* पीपीएफ योजना एक सरकारी बचत योजना है, इसलिए भारत सरकार इस पर पूर्ण सुरक्षा गारंटी प्रदान करती है।
* पीपीएफ खातों में कम ब्याज दरों पर ऋण का भी लाभ उठाया जा सकता है। निवेश शुरू करने के बाद तीसरे और छठे साल में लोन लिया जा सकता है।

निवेशक को डाकघर में खोले गए लोक भविष्य निधि खाते पर आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट दी जाती है। इस योजना में निवेश की गई राशि पर 1.5 लाख रुपये तक की छूट मिलती है। पीपीएफ में मिलने वाले ब्याज और मैच्योरिटी अमाउंट दोनों पर कोई इनकम टैक्स नहीं देना होता है।

महत्वपूर्ण: अगर आपको यह लेख/समाचार पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें और अगर आप भविष्य में इस तरह के लेख/समाचार पढ़ना चाहते हैं, तो कृपया नीचे दिए गए ‘फॉलो’ बटन को फॉलो करना न भूलें और महाराष्ट्रनामा की खबरें शेयर करें। शेयर बाजार में निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह अवश्य लें। शेयर खरीदना/बेचना बाजार विशेषज्ञों की सलाह है। म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश जोखिम पर आधारित है। इसलिए, किसी भी वित्तीय नुकसान के लिए महाराष्ट्रनामा.कॉम जिम्मेदार नहीं होगा।

रेटिंग: 4.17
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 879